दो दिवसीय आम महोत्सव का मंत्री ने किया समापन

पटना : कृषि मंत्री  मंगल पाण्डे द्वारा आज स्थानीय गाँधी मैदान स्थित ज्ञान भवन में 22 से 23 जून तक आयोजित दो दिवसीय आम महोत्सव-सह-प्रतियोगिता, 2024 के विजेता प्रतिभागियों के बीच पुरस्कार वितरण करने के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया| कृषि मंत्री ने बताया कि दो दिनों में आम के प्रति आमजनों में जो चर्चा हुई है उसका सकारात्मक परिणाम आम की खेती से लेकर उसके विपणन तक में मदद करेगा| कल राज्य से 500 किलो आम न्यूजीलैण्ड निर्यात किया गया है, किसानों को आर्थिक लाभ मिलने से आम के उत्पादन में मदद मिलेगा| दो दिनों के इस आम महोत्सव में 29.00 लाख रूप्ये से अधिक के आम,आम के पौध रोपण सामग्री तथा आम के उत्पाद की बिक्री हुई है| उन्होंने कहा कि आम के उत्पादन को क्लस्टर में बढ़ावा देने के लिए विशेष कार्य योजना एवं सुविधाएं किसानों के लिए विशेष योजना के माध्यम से विभाग लेकर आएगा|मंत्री ने बताया कि आम महोत्सव में राज्य के विभिन्न जिलों के 497 आम उत्पादक कृषकों एवं उद्यमियों के द्वारा आम एवं इसके उत्पाद के 4018 प्रदर्शों के साथ भाग लिया गया| प्रतिभागियों द्वारा प्रदर्शित विभिन्न वर्गों के अलग-अलग शाखाओं का मूल्यांकन वैज्ञानिकों की कमिटी द्वारा की गई एवं प्रत्येक वर्ग के हर एक शाखा में तीन उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कृषकों एवं कलाकारों को पुरस्कृत किया गया| चयनित 45 प्रतिभागियों को प्रथम,38 प्रतिभागियों को द्वितीय एवं 30 प्रतिभागियों को तृतीय अर्थात कुल 78 चयनित प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र के साथ क्रमशः 5,000 , 4,000  एवं 3,000 रूपये पारितोषिक दिया गया|विभिन्न श्रेणियों में सबसे ज्यादा अंक पाने वाले अशोक कुमार चौधरी, पिता स्व. राजेन्द्र चौधरी तिलकपुर, सुल्तानगंज, भागलपुर को इस आम महोत्सव में आम शिरोमणि की उपाधि प्रदान की गई एवं उन्हें प्रमाण-पत्र, मोमेन्टो के साथ 10,000 रूपये का विशिष्ट पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया|पी.के.शाही, महाधिवक्ता, ने अपने संबोधन में कहा कि उन्हें अपार हर्ष एवं प्रसन्नता हो रही है कि राज्य में इतने प्रकार के आम के प्रभेद/प्रदर्श किसानों द्वारा लगाए गए हैं| भागलपुर और वैशाली के किसान आम पर काफी काम कर रहे हैं|अगर हमें आम को राज्य से निर्यात करना है तो हमें अन्तर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार आम उत्पादन करना होगा|सचिव, कृषि संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि आम बिहार का गौरव है, यह बहुत खुशी की बात है कि राज्य आम उत्पादन में उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश के बाद तीसरे स्थान पर है| किसानों के द्वारा आम के आकार का छोटा होने की समस्या बतायी गयी है, जिसे कृषि विश्वविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्रों के माध्यम से निदान किया जायेगा|भागलपुर के आम उत्पादक कृषक श्री अशोक कुमार चैधरी 35 अंकों के साथ विशिष्ट पुरस्कार आम शिरोमणि से नवाजे गये।अशोक कुमार चौधरी के द्वारा विभिन्न वर्गों में कुल 8 पुरस्कार प्राप्त किया गया, जिसमें 5 प्रथम, 1 द्वितीय एवं 2 तृतीय पुरस्कार शामिल है|आम महोत्सव में राज्य के विभिन्न जिलों के 74 विजेता कृषकों को 113 प्रदर्शों के लिए कुल राशि 4,77,000 रूपये एवं प्रशस्ति-पत्र से सम्मानित किया गया|पुरस्कार प्राप्त करने में 15 पुरस्कार तथा 67,000 रूपये पुरस्कार राशि के साथ वैशाली जिला अव्वल, 14 पुरस्कार तथा 58,000 रूपये पुरस्कार राशि के साथ भागलपुर जिला द्वितीय एवं 14 पुरस्कार तथा 57,000 रूपये पुरस्कार राशि के साथ पटना जिला तृतीय स्थान पर रहा|बिहार के आम का राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में संभावनाओं विषय पर चर्चा भी आयोजित की गई, जिसमें आम के निर्यातक, संस्थागत क्रेता, कृषक उत्पादक समूह के प्रतिनिधि आदि शामिल हुए, साथ ही आम के किसानों का इन क्रेतागण के साथ वन-टू-वन क्रेता-बिक्रेता वार्ता भी करायी गयी|इस अवसर पर महाधिवक्ता पी.के.शाही, सचिव, कृषि विभाग संजय कुमार अग्रवाल,कृषि निदेशक मुकेश कुमार लाल,उद्यान निदेशक अभिषेक कुमार,अपर सचिव शैलेन्द्र कुमार,संयुक्त सचिव द्वय मदन कुमार एवं मनोज कुमार,अपर निदेशक (शष्य) धनंजयपति त्रिपाठी,संयुक्त निदेशक, उद्यान राधा रमण, उप निदेशक उद्यान संजय कुमार सिन्हा, पवन कुमार, देवनारायण महतो, नितेश कुमार राय, राकेश कुमार,कृषि वैज्ञानिकगण सहित विभागीय पदाधिकारी एवं कर्मचारीगण तथा बड़ी संख्या में राज्य के सभी जिलों से आये किसान/उद्यमी और आगन्तुक मौजूद थे|

0Shares