पटना से गुवाहाटी जलमार्ग का हुआ शुभारंभ

पटना :  स्थानीय गायघाट से जल परिवहन के इतिहास में आज एक नई स्वर्णिम कड़ी जुड़ गयी है, पटना से पांडु (गुवाहाटी) की जलमार्ग संपर्कता स्थापित हो गयी है| इससे बिहार के वाणिज्यिक एवं व्यापारिक गतिविधियों को नई ताकत मिलेगी, इस बात की जानकारी उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के तत्वावधान में गायघाट टर्मिनल पर आयोजित पटना से पांडु तक जहाज पर अनाज की पायलट रुप से आवाजाही के लोकार्पण मौके पर कहीं| इस अवसर पर कालूघाट (सारण) टर्मिनल की आधारशिला भी रखी गई,उन्होंने कहा कि आज के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम के माध्यम से पटना (बिहार) से पांडू (गुवाहाटी) तक माल ढुलाई का वैकल्पिक मार्ग प्राप्त हुआ है, जिसका लाभ बिहार को मिलेगा| उन्होंने कहा कि नदी परिवहन और जल मार्ग से यात्रा हमारे देश की प्राचीन परंपरा रही है,बिहार में सालों भर पानी रहने वाली नदियों की भरमार है,जल संपदा हमारी विरासत है| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को धरातल पर उतारने हेतु भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण जल मार्गों के विकास की दिशा में बेहतर काम कर रहा है|उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के माध्यम से सात इंजन के द्वारा आधारभूत संरचनाओं को सुदृढ़ीकरण की दिशा में अनूठी पहल की जा रही है, जिसमें रोडवेज, रेलवेज, एयरवेज, सूचना प्रौद्योगिकी, सामाजिक अधिसंरचना के साथ जलमार्ग भी शामिल है|  जलमार्ग के द्वारा माल ढुलाई रेलवे और सड़क मार्ग की अपेक्षा सस्ती होती है एवं पर्यावरण की दृष्टि से भी अनुकूल है|इस नवीनतम अंतर्देशीय जल परिवहन आवाजाही का उद्देश्य कच्चे माल और तैयार माल के परिवहन के लिये एक वैकल्पिक मार्ग खोलने के द्वारा उत्तर पूर्व क्षेत्र के औद्योगिक विकास को बढ़ावा देना है|इस अवसर पर उपस्थित अतिथियों द्वारा एम.वी. लाल बहादुर शास्त्री जहाज से एफ.सी.आई. का चावल लेकर पटना से पांडू पोर्ट के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया| जलमार्ग विकास परियोजना के तहत सारण जिले के कालू घाट में एक इंटर मॉडल टर्मिनल के निर्माण की आधारशिला भी रखी गई, इसका निर्माण हो जाने के बाद कालू घाट कोलकाता पोर्ट से सीधे जुड़ जाएगा|कार्यक्रम के दौरान वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल एवं बांग्लादेश के पत्तन एवं जलमार्ग मंत्रालय के मंत्री खालिद मोहम्मद चौधरी वर्चुअल रूप से जुड़े रहे| इस दौरान केन्द्रीय पत्तन, पोत एवं जलमार्ग मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनोवाल, उपभोक्ता खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, पत्तन, पोत एवं जलमार्ग मंत्रालय के केंद्रीय राज्य मंत्री  शान्तनु ठाकुर, बिहार की उप मुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, पटना साहिब के सांसद रविशंकर प्रसाद, विधायक  नंदकिशोर यादव ने अपने विचार ब्यक्त किये| भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के चेयरमैन संजय बंधोपाध्याय, निदेशक अरविंद कुमार सहित भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के अन्य वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे|

0Shares