प्रेमचंद मानवीय संवेदना के महान कथाकार : रामवचन राय

पटना :  प्रतिरोध एवं संघर्ष की भाषा हम इन दिनों भूल रहे हैं,जबकि प्रेमचंद का पूरा साहित्य इन्हीं मूल्यों पर आधारित है,साहित्य हमेशा प्रतिपक्ष की भूमिका में रहता है,प्रेमचंद का …

0Shares
प्रेमचंद मानवीय संवेदना के महान कथाकार : रामवचन राय Read More

हिन्दी का संकुचन नहीं बल्कि विस्तार हो रहा है : राज्यपाल

पटना : हिन्दी एक समृद्ध भाषा है, इसका साहित्य भी अत्यन्त उत्कृष्ट, विपुल और बहुआयामी है,आज हिन्दी में लोकभाषाओं तथा अन्य भारतीय भाषाओं के शब्दों का भरपूर समावेश हो रहा है,जिससे …

2Shares
हिन्दी का संकुचन नहीं बल्कि विस्तार हो रहा है : राज्यपाल Read More

भाषानुवाद बेहतर जरिया हो सकता है : अरविंद जत्ती

पटना :  बसव समिति बेंगलुरु के अध्यक्ष सह पूर्व कार्यवाहक राष्ट्रपति विडी जत्ती के पुत्र अरविंद जत्ती ने स्थानीय आईआईबीएम सभागार में थावे विद्यापीठ के सहयोग से त्रिदिवसीय राष्ट्रीय अनुवाद …

2Shares
भाषानुवाद बेहतर जरिया हो सकता है : अरविंद जत्ती Read More

डाॅ. बिपिन कुमार 11वें विश्व हिन्दी सम्मेलन में नामित

नईदिल्ली : 11वां विश्व हिंदी सम्मेलन विदेश मंत्रालय द्वारा मॉरीशस सरकार के सहयोग से 18-20 अगस्त 2018 तक मॉरीशस में आयोजित किया जा रहा है, इस सम्मेलन का मुख्य विषय …

0Shares
डाॅ. बिपिन कुमार 11वें विश्व हिन्दी सम्मेलन में नामित Read More

समाज के लिए कवि एक जरूरी नागरिक ; विपिन कुमार |

पटना ; डॉ विनय कुमार समय सजग कवि हैं उनकी कविताओं में प्रतिरोधी के स्वयर नहीं मिलेंगे, मगर वे अपनी रचनाओं से सोचने को मजबूर कर देते हैं|हिंदी साहित्य भारतीय …

0Shares
समाज के लिए कवि एक जरूरी नागरिक ; विपिन कुमार | Read More

राष्ट्र निर्माण में साहित्यकारों की भूमिका महत्त्वपूर्ण ; राज्यपाल |

 पटना ; साहित्यकारों में आम इंसान से कहीं ज्यादा संवेदनशीलता होती है और अपने अनुभवों, भावों और विचारों को अभिव्यक्त करने की ज्यादा कुशल और प्रभावकारी क्षमता होती है|समाज और राष्ट्र …

0Shares
राष्ट्र निर्माण में साहित्यकारों की भूमिका महत्त्वपूर्ण ; राज्यपाल | Read More